New Brahma Kumaris Centre Opening in Rajdhanwar, Giridih

New Brahma Kumaris Centre Opening in Rajdhanwar, Giridih

Social worker, Politician and Businessman Anup Santhalia dedicating Brahmakumaris Rajyoga Meditation Centre to people of Rajdhanwar With BK Anu Didi.

Address- BrahmakumarisOld Bank Of IndiaInfront of RupChaya StudioBara ChowkMain RoadRajdhanwarDistrict – Giridih

New Brahma Kumaris Centre Opening in Rajdhanwar, Giridih
New Brahma Kumaris Centre Opening in Rajdhanwar, Giridih
New Brahma Kumaris Centre Opening in Rajdhanwar, Giridih
New Brahma Kumaris Centre Opening in Rajdhanwar, Giridih

Garud Samvad – गरुड़ संवाद – मृत्यु के बाद क्या ?

गरुड़ संवाद
मृत्यु के बाद क्या ?
प्राप्त करें चौंकाने वाली अद्भुत जानकारी
अवश्य पधारें

Life After Death

रविवार, 3 नवम्बर
संध्या 5 बजे

पायें गरुड़ पुराण के श्रवण का पुण्य

स्थान – प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज ईश्वरीय विश्व विद्यालय
बी-12 डॉक्टर्स कॉलोनी, जगजीवन नगर, सरायढेला, धनबाद
मो. – 9334016268

Life After Death

Check out this Facebook Event

https://www.facebook.com/events/399909100947268/

नारी सशक्तिकरण के लिए आत्म-ज्ञान – आजीविका सरस मेला 2019

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय ने आजीविका सरस मेला 2019, गोल्फ ग्राउंड, धनबाद में नारी सशक्तिकरण के लिए आत्म-ज्ञान प्रदर्शनी लगाया |

नारी सशक्तिकरण के लिए आत्म-ज्ञान - आजीविका सरस मेला 2019
नारी सशक्तिकरण के लिए आत्म-ज्ञान – आजीविका सरस मेला 2019, Dhanbad

मेले में ब्रह्मा कुमारीज के भाई-बहनो ने प्रदर्शनी के माध्यम से भारत के उथान-पतन के बारे में समझाया |

रक्षाबंधन का सन्देश – पवित्र बनो – योगी बनो

रक्षाबंधन का सन्देश - पवित्र बनो - योगी बनो article- by anu didi

रक्षाबंधन का सन्देश – पवित्र बनो, योगी बनो!

अनु दीदी –
रक्षाबंधन एक विलक्षण त्यौहार हैं, क्योकि मनुष्य को स्वभाव से ही कोई बंधन अच्छा नहीं लगता, फिर भी रक्षाबंधन बड़ी ख़ुशी से बांधा और बंधवाया जाता हैं | प्रचलित प्रथा के अनुसार राखी एक बड़ी बहन अपने नन्हे भाई को, एक धनवान बहन अपने गरीब भाई को, परदेश में रहने वाली बहन अपने दूर देशीय भाई को तथा अनेक बहने अपने इकलौते भाई को भी बांधती अथवा भेजती हैं |

इन परिस्थिति में भाई द्वारा बहन की आर्थिक सहायता अथवा लाज की रक्षा की भी अपनी सीमाएं हैं, ऐतिहासिक दृष्टि से भी राखी की प्रचलित रश्म परंपरागत नहीं लगती, भला यह मानना कहाँ तक उचित होगा कि नारी आदि काल से अबला रही हैं? विचार करे कि दुर्गा, अम्बा, काली इत्यादि शक्तियां, जिनसे भक्त जन आज तक सुरक्षा की कामनाएं करते हैं, उन्हें भला किसके संरक्षण की आवश्यकता रही होगी? सृष्टि के आदि अर्थात सतयुग में न तो धन-संपत्ति की कमी थी और न ही नारी की लाज को कोई खतरा था, नर और नारी दोनों के अधिकार सामान थे और इस बराबरी के स्मरण चिन्ह आज भी उन मूर्तियों और चित्रों के रूप में मिलते हैं जिनमे विश्व महाराजन श्री नारायण और विश्व महारानी श्री लक्ष्मी को एक सिंहासन पर एक साथ विराजमान दिखते हैं | ‘यथा राजा तथा प्रजा’ की उक्ति के अनुसार उस काल की सभी नारियां सम्मानित तथा सुरक्षित थी | इससे स्पष्ट होता है कि रक्षाबंधन केवल शारीरिक नाते के भाई-बहन का त्यौहार नहीं हैं, बल्कि इसका भावार्थ कहीं अधिक विस्तृत हैं | देखा जाये तो इस पर्व को मानाने के लिए यह काफी बदला हुआ और सिमित सा रूप हैं | पुरोहितो अथवा ब्राह्मणो द्वारा अपने यजमानो को राखी बांधकर तिलक लगाने कि प्रथा प्रचलित हैं | ब्राह्मण भी इस अवसर पर यजमानो को राखी बांधते हैं | परन्तु उनमे यजमानो द्वारा उनकी रक्षा का भाव नहीं हैं | राखी के विषय में एक शास्त्र कथा तो यह हैं कि यम ने अपनी बहन यमुना से राखी बंधवाते हुए ये कहा था कि इस पवित्रता के बंधन में बंधने वाला यमदूतों के भय से छूट जाएगा, एक अन्य कथा के अनुसार जब देवराज इंद्र अपना दैवी स्वराज्य हर गए थे, तब उन्होंने अपनी पत्नी इन्द्राणी से रक्षा सूत्र बंधवाया, जिससे उनका खोया हुआ स्वराज्य पुनः प्राप्त हो गया था | तो स्पष्ट है कि राखी का इतना कोई ऊंच भाव होगा, ये सभी बातें इस सत्यता को घोतक हैं कि रक्षा बंधन एक धार्मिक उत्सव हैं जिसका सम्बन्ध जीवन में श्रेष्ठता एवं निर्विकारिता से हैं | रक्षा बंधन हमें आत्मिक दृष्टि अपनाने अर्थात सबको स्थूल दृष्टि से स्त्री व पुरष न देखकर आत्मा अर्थात भाई-भाई समझने कि प्रेरणा देता हैं | इस सात्विक दृष्टि वृति के लिए पवित्रता का पालन आवश्यक हैं | पवित्रता के द्वारा ही हम भाई-बहन के पावन सम्बन्ध को वास्तविक और व्यापक स्वरुप प्रदान कर सकते हैं तथा सच्चे देवपद के अधिकारी बन सकते हैं | उस सदाशिव परमात्मा तक पहुंचने के लिए पवित्रता ही एकमात्र सोपान हैं | पवित्रता ही सुख-शांति और समृद्धि की जननी हैं | अतः रक्षाबंधन का सन्देश हैं – पवित्र बनो, योगी बनो ! काम वासना एक भयंकर विष हैं जिसे पवित्रता और ब्रह्मचर्य के द्वारा जीता जा सकता हैं | रक्षा बंधन मर्यादा और आत्म निग्रह द्वारा मृत्यु पर विजय पाने का पर्व हैं | (अनु दीदी जी – लेखिका, प्रजापिता ब्रहकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय, धनबाद केंद्र की संचालिका हैं)

A Rajyoga Meditation Session in Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana Orion Company

A Rajyoga Meditation Session in Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana Orion Company

A Rajyoga Meditation Session has been conducted among students in Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana(DDU-GK) Orion Company, Dhaiya, Dhanbad. In which, Bk Laxman Mishra, BK Abhijeet, BK Ravi kumar were present from Brahma Kumaris Dhanbad and took classes on the Rajyoga Meditation and Spiritual Knowledge.

Students Feedback – 

अभिमन्यु कुमार राय – आपने जो बात बतायें इससे हमारे दिनचर्या में अच्छा प्रभाव पड़ेगा |

Kripa Sagar – I feel better and it is the best tip to how we can live a wonderful life. 

विजय कुमार – मुझे धर्म की बातें अच्छी लगती हैं |

पप्पू कुमार सिंह – आज मुझे अच्छा शांति मिला |

दीपक सोरेन – मुझे यह अच्छा लगा और मैं चाहता हूँ कि और भी ऐसा एक्टिविटी हो या होते रहे तो अच्छा रहेगा और हमेशा होना चाहिए |

अमित पंडित – मन को शांति मिला और खुद को खुद से जाना कि हम एक आत्मा हैं |

Indrajeet Pandit – Very Nice to Daily use life.

अमित महतो – बहुत अच्छा लगा, आपने मेरा आँख खोल दिए |

पिंटू पंडित – असीम शांति का अनुभव हुआ और अपने आप को जान गए |

Rahul Chatterjee – It is very important in our daily life. Thank You Sir.

A Session on DeAddictions in Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana Orion Company

Student’s Feedback

Md. Mubarak Ansari – मुझे मैडिटेशन करके मन को बहुत शांति मिलती हैं | और मुझे रामायण के बारे में जानना हैं |

जयराम मंडल – मुझे मैडिटेशन करके मन को बहुत अच्छा लगा और गांव घर तरफ इसके बारे जानकारी दूंगा और बताऊंगा |

Jugay Pandit – मुझे मैडिटेशन करके मन में शांति मिलती हैं और मुझे बहुत अच्छा लगा और मेरे घर में जो भी नशा कर रहा हो उसे छुड़ाने का काम मेरा हैं|

विष्णु मिर्धा – सबसे पहले तो मैं आपके बात से सहमत हूँ कि सर आप जो भी कहते हैं वो बहुत ही लाभदायक का बात हैं इसमें कोई भी व्यक्ति ध्यानपूर्वक से सुने तो उसका मन में से अच्छा सोच निकलेगा अगर इस तरह से आप हमलोगो को और हम अपने गांव वालो को बोलते रहेंगे तो काफी व्यक्ति में परिवर्तन आ जायेगे और मैं आशा करता हूँ कि आप DDUGKY में जब भी आएंगे मैं आपकी बात सुनने के लिए 100% उपस्थित रहूँगा |

गुलाम बेसर – मुझे लगा कि जीवन में मैडिटेशन बहुत ही जरुरी हैं |

काजल राउत- मुझे महसुस हुआ कि मेरा मन बुद्धि संस्कार शुद्ध शुद्ध हो गया हैं और आगे ग्रामवासियों का करूँगा ये मेरा मकसद हैं।

सपन पंडित – मुझे आपकी सभी बातें अच्छी लगी और मैं चाहूंगा कि मैं आपके बातो को पालन करके में अपने आपको शांत रखूं और दूसरों को भी।

ओम प्रकाश – मुझे आपका मेडीटेशन बहुत अच्छा लगा और मैं मेडिटेशन हमेशा करता रहूंगा।

अमित पंडित – हमें आपका जो ॐ शांति का इस योग में एक राह मिला इस योग से हम परमात्मा से विनती, अनुरोध कर सकते हैं कि हम बुरा नही अच्छाई की राह दिखाना और हमें अपना सदा दास बना के रखना। ॐ शांति

Seven Days Rajyoga Meditation Course in Brief in Birsa Munda Park Dhanbad

After Rejyoga Meditation Course, Let’s check their feedback

A Session on DeAddictions in Deen Dayal Upadhyaya Grameen Kaushalya Yojana Orion Company by BK Sunny Bhai

महिलाओं के लिए ब्रह्माकुमारीज़ का शक्ति सत्र

महिलाओं के लिए ब्रह्माकुमारीज़ का शक्ति सत्र

प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज़ ईश्वरीय विश्वविद्यालय के धनबाद सेण्टर के ओर से गोविंदपुर स्थित अग्रसेन भवन में शक्ति सत्र का आयोजन किया गया, कार्यक्रम में अखिल भारतीय मारवाड़ी महिला सम्मलेन, गोविंदपुर के पदाधिकारियों ने भाग लिया | महिला सम्मेलन कि सचिव सीमा सरिया के अनुरोध पर आयोजित शक्ति सत्र में ब्रह्माकुमारीज़ के धनबाद सेण्टर की प्रमुख अनु दीदी ने राजयोग के बारे में बताया |

Marwadi Mahila Samiti Govindpur and Brahma Kumaris Dhanbad

 

Check out some feedback

Meena Bansal

ॐ शांति
मैं यहाँ आकर अपने आप बहुत हल्का महसूस कर रही हूँ, मैं अनु दीदी की बहुत बहुत आभारी हूँ जो मुझे शांति की ओर दर्शन करा रही थी | मैं चाहती हूँ ऐसी एक संस्था हो जो हम कभी दुखी हो, किसी के प्रति हमारी सोच गलत हो तो हम उससे सच्चा दर्शन आईना दिखने वाला हो, मैं यही कामना करती हूँ दीदी से |

Anju Saria

ॐ शांति ॐ
आत्मा की शांति के लिए बहुत ही अच्छा मार्गदर्शन | इस शांति की प्राप्ति के लिए मैं भी कोर्स करना चाहती हूँ |

Isha Agarwal

आज हमलोगो के बीच अनु दीदी आयी, बहुत बहुत सदर प्रणाम, बहुत अच्छा लगा, हमलोग आएंगे, मैं मारवाड़ी महिला समिति की अध्यक्ष ईशा अग्रवाल, हम सभी बहने कोर्स करना चाहते है |

Bimla Sharma

ॐ शांति ॐ
इसके बारे में आज हमें बहुत ही अच्छा ज्ञान प्राप्त हुआ | अनु दीदी ने बहुत ही अच्छा समझाया | आत्मा ओर परमात्मा के बारे में | और हम कैसे विचारो का आदान – प्रदान करते है | हम जैसा ही करेंगे वैसा ही हमें प्राप्त होता हैं |

Seema Saria

आज मुझे दीदी से मिलकर बहुत ही अच्छा लगा | हमारी कई बहनो ने मिलकर यह कोर्स करने को भी कहा हैं | हमारा आज का ही अनुभव इतना अच्छा था तो कोर्स के बाद तो हमें और भी अच्छा लगेगा |

Sunita Bansal and Renu Dudani

ॐ शांति
आज अनु दीदी से अपने ख़ुशी और दूसरे के खुशी को आपस में आदान – प्रदान करने से हम जीवन में कितना बदलाव ला सकते हैं, सुनकर बहुत अच्छा लगा | मैंने निर्णय लिया कि मै उनके पास जाकर क्लास करुँगी | आधे घंटे कि परिचर्चा इतनी अच्छी तो क्लास करके अपने में बहुत चेंज ला सकते हैं |

Sangita Saria

प्रजापिता ब्रह्माकुमारीज़ द्वारा आज हमारी समिति में जो कार्यक्रम हुआ उसमे हम सभी को आत्मिक शांति का अनुभव हुआ | मैंने राजयोग की क्लास की हैं | तो उसका अनुभव अद्भुत था | हम आज की आपा धापी और टेंशन की ज़िन्दगी में कुछ क्षण सुकून और शांति के खोजते हैं | लग रहा हैं वो तलाश अब पूरी हो रही हैं | आगे भी यह संकल्प हैं कि हम इस अनुभव को अपने जीवन को जीने का मंत्र बनाये और अपने परिवार और परिजनों को भी सिखाये |

 

Adbhut Matrutva Program by Brahma Kumaris Dhanbad

Adbhut Matrutva Program by Brahma Kumaris Dhanbad

Adbhut Matrutva, A FOGSI Initiative, Towards a Safe Delivery

A Workshop on Role of gynecologists in empowering future generations through Adbhut Matrutva, a Garbhsanskar Project.

Launched in 2018, Adbhut Matrutva is a FOGSI initiative and is expected to reduce pregnancy related complications and death. This unique programme is expected to counter fetal origin of adult diseases and hence will be instrumental in shaping future generations.

Official Website –www.adbhutmatrutva.com 

Date – Sunday, 30th September, 2018
Venue – PMCH Auditorium, Saraidhela, Dhanbad
Timing – 10 AM to 1 PM
Mobile – 09334016268, 9835356415

Adbhut Matrutva Program by Brahma Kumaris Dhanbad
Adbhut Matrutva Program by Brahma Kumaris Dhanbad

Adbhut Matrutva Program in PMCH Dhanbad
Adbhut Matrutva Program in PMCH Dhanbad

 

Brahma Kumaris Pradarshani in Belgadhiya, Dhanbad

Brahma Kumaris Pradarshani in Belgadhiya, Dhanbad

आज दिनांक 15 अगस्त 2018 को RSP कॉलेज, साईं मंदिर और दुर्गा मंदिर बेलगढ़िया(नई झरिआ) में ब्रह्मा कुमारिस प्रदर्शनी लगाया गया जिसमे बहुत सारे माताओ, बहनो और भाइयो ने भाग लिया

इस प्रदर्शनी में ब्रह्मा कुमार भाइयों ने लोगो को उनका उनसे असली परिचय कराया कि हम एक शरीर नहीं बल्कि शरीर को चलाने वाली आत्मा है, आत्मा सतोगुणी है(ज्ञान, पवित्रता, प्रेम, शांति, सुख, आनंद, और शक्ति), यही गुण आत्मा को पावन बनाती हैं

इस प्रदर्शनी के माध्यम से सभी आत्माओ को परमपिता परमात्मा का असली परिचय दिया गया कि हम कहते हैं हिन्दू, मुस्लिम, सिख और ईसाई आपस में हैं भाई-भाई, कैसे? हमें जिसे कहते हैं ईश्वर एक हैं, वो कौन हैं जो सभी धर्मो में मान्य हैं? सदा शिव! ज्योति बिंदु, लाइट स्वरुप, परमपिता परमात्मा| और भी बहुत सारे बिन्दुओ पर प्रकाश डाला गया|

ब्रह्मा कुमारिस 7 डेज निशुल्क राजयोग मैडिटेशन कोर्स करने के लिए संपर्क करे अपने नजदीकी ब्रह्मा कुमारिस सेण्टर, ॐ शांति !

Today Sewa In Hari Mandir Dated 15 July 2018

Today Sewa In Hari Mandir Dated 15 July 2018

Brahma Kumaris Dhanbad Sewa in Hari Mandir dated 15 july 2018
Brahma Kumaris Dhanbad Sewa in Hari Mandir dated 15 july 2018

Full Brahma Kumaris Course

मैं आत्मा हूँ, परमपिता परमात्मा की संतान