BK Ram Pravesh Sharma Testimonial

ओम शांति

अपना अलौकिक जन्म दिनांक 12.12.2012 को ईश्वरीय परिवार(प्रभु परिवार) अर्थात ब्राह्मण परिवार में हुआ | स्थान – गीता पाठशाला, हीरापुर, धनबाद |

सर्वप्रथम ज्ञान का जन्म मुझे आदरणीय राजयोगिनी अनु दीदी के द्वारा मुरली ज्ञान सुनकर हुआ | जिसे भगवानुवाच अर्थात सच्ची – सच्ची गीता कहा जाता है |

– 15.02.2014 को “बाबा मिलन” में पहली बार जाने का सुखद अवसर मिला | मिलन के समय एक अजब  सा अलौकिक शक्ति तथा परमात्मा शिव बाबा का इस धरा पर दिव्या अवतरण हो चुका है | इसका साक्षात अनुभव हुआ | यही लगा कि “जो पाना था सो पा लिया” अब कुछ बाकी न रहा | दुनिया वाले खोज रहे है, लेकिन मुझे मिल गया, कुछ बाकी नहीं रहा| वह अनुभव आज भी आँखों के सामने दिखाई दे रहा है |

– शिव बाबा अर्थात मेरा बाबा ने अनुभव कराया कि राजयोग(बाप की याद से) सारे दुःखो का विवारण हो चुका है| “मनमनाभव” मंत्र संजीवनी बुटी का काम करता है |

– मुझे बहुत बार अनुभव मिला है कि बच्चे चिंता मत करो मेँ बैठा हुआ हूँ| याद आते ही कि बाबा जाने बाबा का काम है| समाधान हो जाता है और काम हुआ ही पड़ा दिखाई पड़ता है|

-संगमयुग जिससे ईश्वरीय युग भी कहा जाता है| निश्चय के साथ अनुभव मिला कि इसी युग में स्वयंग परमपिता परमात्मा शिवबाबा बाप, टीचर और सतगुरु के रूप अनुभूति कराते है|

अभी सम्मुख बैठ सच्ची-सच्ची गीता का ज्ञान देते है| याद दिलाते है कि मुक्ति और जीवनमुक्ति तुम्हारा जनम सिद्ध अधिकार है |

– यह अनुभव मिला कि संगम पर पुण्य का खजाना बढ़ाना है और पिछले विकर्मो का खाता चुक्तु करना है | क्योंकि कर्मातीत बनने के लिए सम्पूर्ण रूप से बाप के श्री मत पर चल कर इस बाप को पक्का करना है:-

(१) पवित्र बनो योगी बनो

(२) ज्ञानी बनो योगी बनो तो बेडा पार हो जाएगा |

– पिछले साल बाबा मिलन के अवसर पर का छोटा अनुभव बता रहा हूँ| बड़े भाई रणवीर भाई, लक्ष्मण भाई तथा मैं तीनो खाना लेकर टेबल पर जैसे ही बैठे थे कि मुझे प्यास(पानी पीने) का फील हुआ और कहा कि पानी तो नहीं लाये, बहुत हल्के शब्दों में, मेरे ख्याल से यही लगा कि अगल-बगल में कोई नहीं सुना होगा| अगल-बगल टेबल ज्यादा खाली ही था|

इसी बीच एक भाई ने दो गिलास पानी लेकर आ धमका| हमलोग सभी आश्चर्यचकित  हो गए यह क्या हुआ|मुझे रहा नहीं गया और मैं पूछा भैया आप कहाँ से आये हो| वह भोला-भाला भाई केवल यही कहा कि ओडिशा से ओडिशा से और चला गया | हमसब देखते ही रह गए|

यह एक चमत्कार और ईश्वरीय शक्ति (अलौकिक शक्ति) का ही मिसाल कहा जा सकता है |

ओम शांति

बीo केo राम प्रवेश शर्मा

सेवानिर्वित(रिटायर्ड) सुपरिटेंडिंग इंजीनियर(सिविल)

भारत कोकिंग कॉल लिमिटेड(BCCL) सीo आई० एल0(CIL)

पता(Address): प्रेम कुँज, इंदिरापल्ली, दुर्गा मंदिर रोड नंबर – 1

हीरापुर, धनबाद |

9431315884